AC क्या है? | What is Air Conditioner in Hindi

तकनीकी के इस दौर में बढ़ते हुए ग्लोबल वार्मिंग का असर पूरी दुनिया पर हो रहा है| ऐसे में क्या आप जानते हैं कि AC क्या है?(What is Air Conditioner in Hindi) आज इस आर्टिकल के माध्यम से AC से जुड़े कुछ सवालों के बारे में जानेंगें जैसे कि Air Conditioning क्या है, कैसे काम करता है, Air Conditioner Meaning in Hindi.

तकनीकी जगत में तेजी से विकास होने के कारण ग्लोबल वार्मिंग का खतरा भी बढ़ता जा रहा है| वर्तमान समय में गर्मियों के मौसम में तापमान 40°C के ऊपर चला जाता है जिससे बचने के लिए हम लोग Fan, Air Cooler या Air Conditioner(AC) का प्रयोग करते हैं|

ऐसे में यदि आप गर्मी के मौसम में AC खरीदना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको Air Conditioner के बारे में महत्वपूर्ण बातों को जानना चाहिए जो की आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं| चलिए शुरू करते हैं-

एयर कंडीशनर क्या है (What is Air Conditioner in Hindi)

Air Conditioner in Hindi 1

एयर कंडीशनर एक ऐसी तकनीकी है जो कमरे के तापमान को, बाहरी तापमान से कम रखता है| आसान भाषा में कहा जाये तो “यह आपके कमरे की गर्मी को बाहर निकलता है जिससे रूम ठंडा रहता है|”

एयर कंडीशनर की परिभाषा-

“एयर कंडीशनर, बाहरी मौसम के तापमान और मकान के अन्दर के तापमान में परिवर्तन को स्वतंत्र रूप से स्थिर रखने के लिए, भवन के वातावरण को बनाये रखने की अनुमति देता है|”

AC का हिंदी अर्थ (Air Conditioner Meaning in Hindi)

AC का फुल फॉर्म “Air Conditioner” है जिसका हिंदी अर्थ “वातानुकूलक” होता है| इसे “तापनियंत्रित” भी कहते हैं| वैसे तो AC तकनीकी का डेवलपमेंट सन 1558 से शुरू हो गया था लेकिन सन 1902 में “विलिस कैरियर(Willis Carrier)” ने पहला आधुनिक एयर कंडीशनिंग यूनिट का आविष्कार किया|

कैरियर ने इस यूनिट का इस्तेमाल, न्यूयार्क के ब्रुकलिन शहर में स्थित लिथोग्राफ नामक कंपनी के कमरों को ठंडा करने के लिए किया था| इस आविष्कार की मदद से तापमान और आर्द्रता दोनों को नियंत्रित किया जा सका|

एयर कंडीशनर कैसे काम करता है?

AC के कार्य प्रणाली को समझने के लिए, नीचे दिए गये चित्र को ध्यान से देखें जिसमें सभी स्टेप्स को बताया गया है|

Air Conditioner in Hindi 2

AC के मुख्यतः चार भाग होते हैं-

  • Evaporator
  • Compressor
  • Condenser
  • Expansion Valve 

1. Evaporator

यह एक प्रकार का हीट एक्सचेंजर (Heat Exchange Coil) होता है जिनमें  Heat Fins लगे होते हैं| चूँकि फिन्स के अन्दर Refrigerant होती हैं जो कमरे से आने वाली गर्म हवा को Absorb कर लेती हैं तथा नमी फिन्स के संपर्क में आते ही पानी में बदल जाता है| जिसे AC में लगे वाटर ड्रेन होज पाइप (Water Drain Hose Pipe) द्वारा बहार निकल दिया जाता है| इस क्रिया से कमरे का तापमान, वातावरण के तापमान से कम रहता है जिससे रूम ठंडा रहता है|

2. Compressor

कंप्रेसर, Evaporator से आने वाली लो प्रेशर रेफ्रीजेरेंट (Low Pressure Refrigerant) को कॉम्प्रेस कर देता है जिससे उस गैस का Pressure और Temperature बढ़ जाता है| कंप्रेसर का दूसरा मुख्य कार्य होता है कि पुरे Air Conditioning System में रेफ्रीजेरेंट के फ्लो को बनाये रखना| इस पुरे Cycle में कंप्रेसर एक तरह से पंप का भी कार्य करता है|

3. Condenser

कंडेंसर का मुख्य कार्य है कि कंप्रेसर से आने वाली हाई प्रेशर रेफ्रीजेरेंट (High Pressure Refrigerant) के Heat को बाहर निकलना तथा रेफ्रीजेरेंट को Gas से Liquid में बदलना|

4. Expansion Valve

एक्सपेंशन वाल्व, हाई प्रेशर रेफ्रीजेरेंट (High Pressure Refrigerant) को लो प्रेशर रेफ्रीजेरेंट (Low Pressure Refrigerant) में बदलता है| आसान शब्दों में कहें तो- यह Liquid रेफ्रीजेरेंट को Gas फॉर्म में बदलता है ताकि Evaporator के द्वारा अधिक से अधिक Heat को Absorb किया जा सके|

Expansion Valve, Liquid रेफ्रीजेरेंट के Flow को भी कंट्रोल करता है|

और यह Cooling Cycle ऐसे ही चलता रहता है जब तक की कमरा ठंडा न हो जाये|

एयर कंडीशनर में प्रयोग किये जाने वाले गैस  का नाम

AC में प्रयोग किये जाने वाले गैस को “रेफ्रीजेरेंट (Refrigerant)” कहते हैं जिसे R से दर्शाया जाता है| जैसे – R-22, R-410a, R-32. आमतौर पर AC में Freon (R-22) गैस भरा जाता है जिसे CFC(क्लोरो फ्लोरो कार्बन) भी कहते हैं| हालाँकि ग्लोबल वार्मिंग की बढती समस्या को ध्यान में रखते हुए इस गैस का प्रयोग कम मात्रा में किया जाता है|

लेकिन आज भी पुराने मॉडल के उपकरण में R-22 का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है| आजकल एयर कंडीशनर में प्रयोग किये जाने वाले रेफ्रीजेरेंट का नाम R-134 है| इसे टेट्रा फ्लोरो इथेन भी कहा जाता है|

एयर कंडीशनर के प्रकार (Types of Air Conditioner in Hindi)

सामान्यतः एयर कंडीशनर मुख्य रूप से चार प्रकार के होते हैं|

  • Split AC
  • Central AC
  • Window AC
  • Portable AC

1. Split AC

Air Conditioner in Hindi 3

Split AC का उपयोग उन घरों के लिए अच्छा विकल्प हैं जिनमें डक्टवर्क नहीं है| यह आजकल ज्यादा प्रचलित है| Split AC को डक्टलेस (Ductless) AC भी कहा जाता है| इनमें दो यूनिट का प्रयोग किया जाता है| एक स्प्लिट सिस्टम में, एक आउटडोर कंप्रेसर और कंडेंसर को इनडोर एयर हैंडलिंग यूनिट के साथ जोड़तें हैं|

इनडोर यूनिट कमरें में उपस्थित गर्म हवा को बाहर खींचता है जबकि आउटडोर यूनिट में कंप्रेसर और फैन लगा होता है|

2. Central AC

इस प्रकार के AC का प्रयोग बिल्डिंग के छत में किया जाता है जिसे छत के बीचो-बीच लगते हैं| इस AC में Evaporator को कंडेंसर और कंप्रेसर के साथ जोड़कर एक यूनिट का निर्माण होता है, जिसे किसी छत या कंक्रीट स्लैब पर रखा जाता है|

यूनिट, बाहरी दीवार या छत में लगे डक्टपाइप के द्वारा कमरे से हवा खींचती है तथा घर के अन्दर ठंडी हवा लौटती है जिससे कमरा ठंडा रहता है| इसका प्रयोग ज्यादातर बड़े होटल या बिल्डिंग्स में किया जाता है|

3. Window AC

सामान्यतः विंडो AC का प्रयोग एक कमरे के लिए किया जाता है| AC के सभी कॉम्पोनेन्ट को थर्मोस्टेट के साथ एक बॉक्स में फिट किया जाता है और इस बॉक्स को दीवार या खिड़की पर लगा दिया जाता है|

4. Portable AC

यह विंडो AC के सामान होता है लेकिन इसे एक कमरे से दुसरे कमरे तक आसानी से ले जा सकते हैं| Portable AC को फर्श तथा फ्रीस्टैंड पर रखा जाता है जिसे आसानी से एक स्थान से दुसरे स्थान तक स्थानांतरित किया जा सकता है| इसका प्रयोग छोटे कमरे तथा ऑफिस के लिए किया जाता है|

AC खरीदने से पहले Star Rating का रखें ध्यान

एयर कंडीशनर को खरीदते समय स्टार रेटिंग पर ध्यान दें| क्योंकि यह एक ऐसा मानक है जिसे कार्यक्षमता और बिजलीखपत के अनुसार निर्धारित किया जाता है| जैसे – थ्री स्टार, फोर स्टार, फाइव स्टार|

Three Star Rating का AC फाइव स्टार रेटिंग की अपेक्षा कम कीमत में मिलेगा तथा बिजली की खपत ज्यादा करेगा| इसलिए फाइव स्टार रेटिंग का AC को खरीदना चाहिए क्योंकि यह बिजली की खपत कम करता है|

एक लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाला VFD AC मिलता है जिसकी कीमत Non-Inverter AC से ज्यादा होती है लेकिन यह Electricity Consumption कम करता है|

FAQ

1. Air Conditioner की खोज किसने की थी?

सन 1902 में “विलिस कैरियर(Willis Carrier)” ने पहला आधुनिक एयर कंडीशनिंग यूनिट का आविष्कार किया|

2. AC को हिंदी में क्या कहते हैं?

AC का फुल फॉर्म “Air Conditioner” है जिसका हिंदी अर्थ “वातानुकूलक” होता है|

3. Air Conditioning क्या है?

यह एक ऐसी प्रक्रिया है जो बाहरी मौसम के तापमान और भवन के आतंरिक तापमान में परिवर्तन को स्वतंत्र रूप से स्थिर रखने के लिए, भवन के वातावरण को बनाये रखने की अनुमति देता है|

आशा करता हूँ की अब आप जान गये होंगे कि AC क्या है?(What is Air Conditioner in Hindi) तथा Air Conditioner Kya Hai. उम्मीद करता हूँ कि मेरे द्वारा प्रदान की गयी जानकारी से कुछ सिखने को मिला होगा| आप सभी पाठकों से विनम्र निवेदन है की इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ शेयर करें ताकि इससे सभी को लाभ मिले| मुझे आप सभी के सहयोग की आवश्यकता है|

कृपया अपने विचार तथा सुझावों को हमारे साथ साझा करें जिससे हमें अपनी गलतियों को सुधारने का मौका मिल सके| इसके लिए आप नीचे कमेंट कर सकते हैं तथा आप हमें मेल भी कर सकते हैं|

धन्यवाद्

Default image
Amit Kumar Singh
मैं Amit Kumar Singh, HindiBlogger का Founder & Technical Author हूँ | मैं एक Graduate Engineer हूँ और इस Blog पर हर रोज, Internet, Blogging, Latest Technology से Related एक नया पोस्ट Update करता हूँ | आशा करता हूँ मेरे द्वारा लिखा गया पोस्ट आपको पसंद आएगा |

Subscribe For Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

Leave a Reply

Copy link